मंगलवार, 18 सितंबर 2012

HONOUR KILLING


आँखों की श्रम गई
बड़ों का लिहाज गया
'तेरा क्या जाता है' जैसे भाव हैं हर जगह
अब तो बस खुद पे तरस आता है ...

रश्मि प्रभा


HONOUR KILLING
मुकेश कुमार सिन्हा

पहली बरसात की हलकी फुहार
मंद मंद बहती पवन की बयार
अंतर्मन में हो रहा था खुशियों का संचार
अलसाई दोपहर के बाद
उठ कर बैठा ही था
बच्चो ने कर दी फरमाइश
पापा! चलो न "गार्डेन"!!
मैंने भी "हाँ" कह कर
किया खुशियों का इजहार
और पहुच गए "लोधी गार्डेन!!!!

मौसम की सतरंगी मस्ती
खेल रहे थे, क्योंकि थी चुस्ती
हमने भी बनाई दो टीम
लिया प्लास्टिक का बैट
उछलती हुई टेनिस बॉल
पर लगाया एक शौट
जो उड़ता हुआ जा पहुंचा
पेड़ के पीछे, झाड़ी के बीच!!

नौ वर्षीय बेटा दौड़ा
पर उलटे पैरों लौटा
बडबडाया
वहां है कोई, मैंने नहीं लाता....
आखिर गया मैं
पर मैं भी लौटा बिना बॉल के
होकर स्याह!
खेल हो गया बंद
सारे समझ न पाए
हुआ क्या???

धीरे से, श्रीमती को समझाया
अरे यार! कैसे लाऊं बॉल
स्तिथि बड़ी है विषम
पता नहीं क्यूं ये युवा जोड़े
अपने क्षुदा पूर्ति और काम वासना
के सनक को
को कहते हैं, हो गया है प्यार
पब्लिक प्लेस पर
इस तरह का दृश्य गढ़ कर
क्यूं करते हैं हमें शर्मशार

मेरे आँखों में तभी कौंधा
HONOUR KILLING जैसा शब्द
लगा ये ऐसे मुद्राओ के साथ
हो नहीं रहा इज्जत से खिलवाड़
क्या इन झाड़ियों में छिप कर
होने वाला जिस्मानी प्यार
कर नहीं रहा युवाओं के
माता-पिता की इज्जत तार-तार
क्यूं इनके आँखों की शर्म
इन्हें बना देती है बेशर्म
क्यूं? क्यूं?? क्यूं???

10 टिप्‍पणियां:

  1. एक ज्वलंत मुद्दे पर लिख देना आसान नही होता आपने बखूबी इसे लिख है ..... सुंदर प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
  2. लगभग हर जगह की समस्या हो गई है ये प्रश्न ज्यूँ का त्यूँ ही है --क्यूँ क्यूँ क्य़ूँ ???

    उत्तर देंहटाएं
  3. सब जगह यही समस्या है ..आँखों की शर्म कहीं खो गई...

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत वर्षो पहले ,मुंबई जाना हुआ तो वहाँ ऐसे दृश्य देखने को मिला तो महानगरी का फैशन लगा ....
    लेकिन अब तो ये हर जगह घिनौना सच देखने को मिला जाता है ...
    और वही सवाल कौंधता है ....क्यूँ क्यूँ क्य़ूँ ???

    उत्तर देंहटाएं
  5. yeh haal hai har jagah ka....garden jana tho bhul hi jana chahiyee......sach may ye prashn kabhi nahi kahatam hone wala

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत उम्दा प्रस्तुति, गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं